दिल्ली NCR समाचार

निफ्टी, सेंसेक्स में तेजी कायम, फार्मा सेक्टर ने की रिकवरी

227views

निफ्टी, सेंसेक्स में तेजी कायम, फार्मा सेक्टर ने की रिकवरी

भारतीय बाजारों में बुधवार को भी तेजी का रुख देखा गया और दोनों प्रमुख सूचकांक सकारात्मक रुख के साथ बंद हुए। निफ्टी 2.11% या 187.45 अंक की वृद्धि के बाद 9,000 के आंकड़े को पार कर गया और 9,066.55 पर बंद हुआ, वहीं सेंसेक्स भी 2.06% या 622.44 अंक ऊपर और 30,818.61 पर बंद हुआ। निफ्टी फार्मा ने 4% की बढ़ोतरी की और इसके साथ ही अन्य सेक्टोरल इंडेक्स भी हरे रंग के साथ बंद हुए।श्री अमर देव सिंह, हेड एडवायजरी, एंजिल ब्रोकिंग लिमिटेड

 

 

 

मार्केट के गेनर्स और लूजर्स

 

आज के कारोबार में 1,277 शेयरों ने लाभ कमाया, जबकि 1044 शेयरों ने नुकसान। वहीं 169 शेयरों की कीमत में कोई बदलाव नहीं आया। डॉ. रेड्डीज लैब (5.82%), एचडीएफसी (6.15%), एमएंडएम (5.71%), बीपीसीएल (5.69%), और श्री सीमेंट्स (6.24%) निफ्टी के टॉप गेनर्स में से थे। निफ्टी फार्मा सेक्टर में 4% से अधिक की वृद्धि हुई, इसके बाद ऑटो, एनर्जी और बैंकिंग सेक्टर आए। बीएसई मिडकैप और बीएसई स्मॉलकैप इंडेक्स दिन के अंत तक 1% बढ़ गए।

 

दूसरी ओर, निफ्टी में टॉप लूजर्स में इंडसइंड बैंक (2.60%), भारती इंफ्राटेल (6.99%), हीरो मोटोकॉर्प (2.34%), भारती एयरटेल (0.65%), और वेदांता (1.61%) शामिल हैं।

 

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सबस्क्रिप्शन के लिए अपने राइट इश्यू को खोला जिसके बाद शेयर की कीमत लगभग 2% बढ़ गई। कंपनी ने राइट्स इश्यू के माध्यम से 5,125 करोड़ रुपये जुटाने का प्रस्ताव किया है। सबस्क्रिप्शन 3 जून, 2020 को बंद हो जाएगा।

 

बजाज फाइनेंस ने मार्च 2020 को समाप्त तिमाही में कर चुकाने के बाद 948 करोड़ रुपए का लाभ कमाने की रिपोर्ट दी। भले ही कंपनी के मुनाफे में 19.4% की गिरावट आई, शेयर की कीमत लगभग 4% बढ़ी।

 

मार्च-2020 में समाप्त तिमाही के लिए कंपनी ने 427.5 करोड़ रुपए के शुद्ध लाभ की रिपोर्ट देने के बाद एलएंडटी इन्फोटेक शेयर की कीमत 6% से अधिक हो गई। कंपनी ने पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष 12.9% अधिक लाभ कमाया।

 

टीके के ट्रायल्स को लेकर अस्थायी तौर पर मार्केट में उत्साह

कोविड-19 के टीके की सफल जांच आज भी निवेशकों की भावनाओं को अस्थायी रूप से उत्साहित कर रही है। हालांकि, कोविड-19 के प्रकोप को लेकर अमेरिका-चीन का विवाद बाजार के पॉजीटिव ट्रेंड को बाधित कर रहा है। देश में पॉजीटिव मामलों की बढ़ती संख्या के बावजूद सेक्टोरल सूचकांकों ने सकारात्मकता के साथ कारोबार किया, जिससे मार्केट सूचकांक भी हरे रंग में बंद हुए।

 

दुनिया के कुछ हिस्से में अर्थव्यवस्थाएं फिर खुल गई हैं, जिसका नतीजा है कि वैश्विक बाजारों में सकारात्मक मूवमेंट हुआ है। निक्केई-225 में 0.79% या 161.70 अंक की वृद्धि देखी गई और हैंगसेंग में 0.05% या 11.82 अंक की वृद्धि देखी गई। नैस्डेक ने 0.54% या 49.72 अंकों का निगेटिव ट्रेंड दिखाया और एफटीएसआई एमआईबी में 0.12% या 26.04 अंक की गिरावट दर्ज की। हालांकि, वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक उम्मीद जाग गई है क्योंकि दुनियाभर में सरकारें कोविड के बाद की दुनिया के लिए तैयार है। निवेशक अभी भी भविष्य की विकास की संभावनाओं को लेकर आशंकित हैं, जिससे बाजार अस्थिर है।

Leave a Response