फरीदाबाद

उपायुक्त यशपाल व एचएसवीपी के प्रशासक प्रदीप दहिया की अध्यक्षता में सभी वार्ड इंचार्ज की मीटिंग हुई, जिसमें सभी को जन सहायक हेल्प मी एप की वर्किंग के बारे में प्रशिक्षण दिया गया।

232views

उपायुक्त यशपाल व एचएसवीपी के प्रशासक प्रदीप दहिया की अध्यक्षता में सभी वार्ड इंचार्ज की मीटिंग हुई, जिसमें सभी को जन सहायक हेल्प मी एप की वर्किंग के बारे में प्रशिक्षण दिया गया।
उपायुक्त ने कहा कि सभी वार्ड इंचार्ज अपने मोबाइल फोन में इस एप को डाउनलोड कर लें। डाउनलोड होने के बाद अपने मोबाइल नंबर से इसमें रस्टिर करने के बाद संबंधित एरिया के जरूरतमंद व्यक्ति की पके भोजन से संबंधित डिमांड उनके पास पहुंचेगी। इस डिमांड के अनुसार अपने कर्मचारी या उस एरिया के वालिंटियर्स के माध्यम से संबंधित व्यक्ति को तुरंत मदद पहुंचाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी 40 वार्डों में जरूरतमंद व्यक्ति को सूचीबद्ध किया जा चुका है, जिन्हें निरंतर मदद पहुंचाई जा रही है। इसके अलावा करीब 18 हजार से अधिक लोगों को सूखा राशन उपलब्ध करवाया गया है। उन्होंने बताया कि लोगों को इस एप के बारे में अधिक से अधिक जानकारी दें, ताकि उन्हें जल्द से जल्द मदद पहुंचाई जा सके।
एचएसवीपी के प्रशासक प्रदीप दहिया ने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान सभी अधिकारियों ने वार्ड वाइज अच्छा काम किया है। इन अधिकारियों की टीम के माध्यम से ही जिला प्रशासन हर जरूरतमंद व्यक्ति को ट्रैक करने व उन्हें मदद पहुंचाने में कामयाब रहा। यह कार्य प्रतिदिन सुबह व शाम दोनों समय के लिए निरंतर चलाया गया। पहले सभी को कंट्रोल रूम के नंबर पर आने वाली डिमांड मैसेज से भेजी जाती थी। अब सभी प्रकार की डिमांड एप के माध्यम से आएंगी। इसकी ट्रैकिंग भी प्रदेश स्तर पर होगी। अतः कोई भी डिमांड किसी एरिया में पैडिंग नहीं रहनी चाहिए। इसी प्रकार सोशल मीडिया के माध्यम से मिलने वाली खाने की डिमांड को भी संबंधित वार्ड इंचार्ज को भेजा जाएगा। सभी वार्ड अधिकारी इस कार्य में तत्परता व पूरी निष्ठा से कार्य करें। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त आरके सिंह, एचएसवीपी के संपदा अधिकारी परमजीत चहल सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Response