फरीदाबादहरियाणा

उपायुक्त यशपाल के दिशा-निर्देश अनुसार कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग तथा जिला विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में भी जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

266views

उपायुक्त यशपाल के दिशा-निर्देश अनुसार कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग तथा जिला विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में भी जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इन जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को बताया जा रहा है कि कोरोना से बचाव के लिए दवाई से ज्यादा सावधानी जरूरी हैं, जिन्हें हर व्यक्ति को अपनाना होगा।

जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राकेश मोर ने बताया कि विकास एवं पंचायत विभाग की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। सभी बीडीपीओ अपने क्षेत्रों में समाजसेवी संस्थाओं व जागरूक लोगों के साथ मिलकर लोगों को मास्क पहनने, समय-समय पर हाथ धोने, दो गज की दूरी का सोशल डिस्टेंसिंग और अच्छे खान-पान के लिए जागरूक कर रही हैं। इस अभियान में सोनू नवचेतना फाउंडेशन के द्वारा गांव वासियों को साबुन और मास्क दिए जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि व्हाट्सएप ग्रुपों और फेसबुक पर पोस्टर और वीडियो के माध्यम से भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। विभाग की ओर से वॉल पेंटिंग, गांवों में मुनादी और सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से लोगों को और जागरूक किया जा रहा है।

बीडीपीओ प्रदीप कुमार ने बताया कि खण्ड में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार पहचान पत्र बनाने के काम के क्रियान्वयन के लिए संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को दिशा-निर्देश दिए हैं। परिवार पहचान पत्र में आधार कार्ड की तर्ज पर विशेष आईडी नंबर दिया जाएगा, जिसे फैमिली आईडी नंबर कहा जाएगा। यह कार्य पूरा होने पर सरकार की सभी जनकल्याणकारी योजनाओं व परियोजनाओं का लाभ इसी फैमिली कार्ड के माध्यम से दिया जाना है। इसके लिए ब्लॉक स्तर पर तथा सैक्टर बनाकर अलग-अलग कमेटियां बनाई गई हैं। इन कमेटियों में 5 से 11 सदस्य हैं। इन कमेटियों में समाजसेवी संस्थाओं, सोशल वर्कर्स, सामाजिक संस्थाओं, विभिन्न राजनैतिक दलों तथा समाज से जुड़े अन्य लोगों को शामिल किया गया है। कमेटियों में शामिल व्यक्ति अपने आसपास के घरों की पूरी जानकारी का डाटा प्रशासन को उपलब्ध करवाने में पूरा सहयोग दें, इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित किया जा रहा है। सर्वे में प्रशासन को परिवार की पूरी जानकारी लेनी है। इनमें बीपीएल परिवार, एपीएल परिवार, ओपीएल परिवार सहित अलग-अलग कैटेगरी या बनाई गई है। जिन्हें इस सर्वे में फार्म के माध्यम से क्लेक्ट किया जाएगा। जिला में सभी हाउस होल्ड का सर्वे कराया जा रहा है।

Leave a Response