सोनीपतहरियाणा

बरसाती मौसम की निकटता के चलते उपायुक्त ने बाढ़ प्रबंधन का जायजा लेने के लिए किया यमुना का दौरा

258views

बरसाती मौसम की निकटता के चलते उपायुक्त ने बाढ़ प्रबंधन का जायजा लेने के लिए किया यमुना का दौरा
– बेगा घाट और मिमारपुर घाटों का निरीक्षण करते हुए उपायुक्त ने दिए जरूरी दिशा-निर्देश
– बेगा घाट पर 55.46 लाख की लागत से बनाये जायेंगे चार नए स्टड: उपायुक्त पूनिया
– उपायुक्त ने यमुना नदी क्षेत्र के 41.74 किलोमीटर क्षेत्र की ड्रोन मैपिंग के दिए निर्देश
सोनीपत, 22 मई। बरसाती मौसम की निकटता के दृष्टिगत उपायुक्त श्यामलाल पूनिया ने शुक्रवार को बाढ़ प्रबंधों का जायजा लेने के लिए यमुना नदी का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि सोनीपत जिला की 41.74 किलोमीटर यमुना के सीमा क्षेत्र की ड्रोन मैपिंग करवाई जाए।
गन्नौर खंड के अंतर्गत बेेगा घाट से गांव दहिसरा की सीमा तक का यमुना नदी का क्षेत्र सोनीपत जिला में आता है, जिसकी लंबाई करीब 41.74 किलोमीटर है। इस क्षेत्र का निरीक्षण करने के उद्देश्य से उपायुक्त श्यामलाल पूनिया संंबंधित अधिकारियों के साथ मिमारपुर घाट पर पहुंचे। उन्होंने यमुना के बहाव और कटाव को मौके पर ही समझते हुए नई ठोकरों के निर्माण और पुरानी ठोकरों की मरम्मत पर विस्तार से चर्चा की। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि मिमारपुर में दो स्टड (ठोकरों) की मरम्मत की जाएगी, जिस पर करीब 8.46 लाख रूपये की लागत आएगी।
उपायुक्त पूनिया ने मिमारपुर की सभी ठोकरों का गंभीरता से निरीक्षण किया। उन्होंने हर संभावित स्थिति पर मंथन करते हुए जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए। मिमारपुर में ठोकर बनाने के लिए पत्थर आ चुका है। ठोकर निर्माण का कार्य जल्द ही प्रारंभ किया जाएगा। इसके उपरांत उपायुक्त ने बेगा घाट का निरीक्षण किया। बेगा पहुंचकर उन्होंने नई ठोकरों (स्टड) के निर्माण को लेकर समीक्षा की। उन्होंने कहा कि बेगा घाट पर आवश्यकतानुसार चार नए स्टड बनाये जायेंगे, जिनके निर्माण पर लगभग 55.46 लाख रूपये की राशि व्यय होगी।
उपायुक्त श्यामलाल पूनिया ने इस दौरान जानकारी दी कि टिकोला में भी एक नया स्टड बनाया जाएगा। साथ ही यहां 250 फीट की रिवेटमेंट का निर्माण करते हुए चार पुरानी ठोकरों की मरम्मत का कार्य भी किया जाएगा। इस कार्य पर करीब 55.78 लाख रूपये की लागत आएगी। उन्होंने कहा कि बेगा से दहिसरा तक की सीमा में लगभग 350 स्टड हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि सबकी गंभीरता से जांच की जाए। यदि कहीं किसी स्टड की मरम्मत की जरूरत है तो उसे तुरंत करवाया जाए। साथ ही नये स्टड की निर्माण की जरूरत हो तो उसमें भी देरी न करें।
इस मौके पर एसडीएम स्वप्निल रविंद्र पाटिल, एसडीएम आशुतोष राजन, एक्सईएन अश्विनी फोगाट, अधीक्षक उदय सिंह सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।
डीएसपी कंपनी को बांध हटाने के दिए आदेश:
मिमारपुर में निरीक्षण के दौरान उपायुक्त श्यामलाल पूनिया ने संज्ञान लिया कि यमुना के अंदर अवैध तरीके से एक बांध बनाया गया है। इस संदर्भ में उन्होंने मौके पर ही संबंधित कंपनी डीएसपी के कर्मियों को बुलाकर आदेश दिए कि इस बांध को तुरंत प्रभाव हटाया जाए। उन्होंने एसडीएम आशुतोष राजन को निर्देश दिए कि इस संदर्भ में आवश्यक कागजी कार्रवाई कर बांध को हटवाना सुनिश्चित करें।
एक कार और एक ट्रक को करवाया जब्त:
उपायुक्त श्यामलाल पूनिया ने दौरे के दौरान मिमारपुर घाट पर कुछ युवकों को यमुना नदी में स्नान करते हुए देखा, जिन्होंने अपनी कार भी अस्थाई बांध यमुना नदी के अंदर ही खड़ी कर रखी थी। उपायुक्त ने उपस्थित पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि इनकी कार को जब्त कर कानूनी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि लोगों को अपनी जान-माल के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। यमुना नदी के अंदर इस प्रकार से गाड़ी ले जाना और स्नान करना उचित नहीं है। इसके उपरांत उन्होंने गांवों के पक्के रास्ते से बेगा घाट की ओर जाते समय एक मिट्टी का ओवरलोड ट्रक भी जब्त करवाया। उपायुक्त के निर्देश पर एसडीम आशुतोष राजन ने ट्रक को जब्त कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई को अंजाम दिया।
प्रेस नोट- डीआईपीआरओ स्पे. 07
जिला सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी सोनीपत।
मो. 9466323600
————

Leave a Response