अपराधफरीदाबाद

फरीदाबाद ( 29 जनवरी ) फरीदाबाद पुलिस ने प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत लोन दिलाने के नाम पर फरीदाबाद के करीब 500 लोगों से ठगी करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है

277views

फरीदाबाद ( 29 जनवरी ) फरीदाबाद पुलिस ने प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत लोन दिलाने के नाम पर फरीदाबाद के करीब 500 लोगों से ठगी करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने फरीदाबाद के लोगों से ठगी करने के बाद अब गुजरात के लोगों से ठगी करने के इरादे से गुजरात में दफ्तर खोल रखा था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर के तीन दिन के रिमांड पर ले लिया है।

अजीत पुत्र उमेश ठाकुर निवासी बाराही जीवा थाना बातनाहा जिला सीतामढ़ी बिहार हाल किरायदार माकन नम्बर 196 जेजे कॉलोनी सकुरपुर नई दिल्ली और उसका दोस्त नितिन पुत्र सुरजीत सिंह निवासी गांव फौलादपुर तहसील सिकंदराबाद जिला बुलंदशहर हाल किरायेदार 304 सैक्टर 117 नोएडा में रह रहे थे। दोनों ने योजना बना कर फरीदाबाद के रामा पैलेस में फेक आईडी के जरिये एक ऑफिस किराए पर लिया और वहां पर जन कल्याण फाइनेंस कन्सलटेंस नाम की फर्म का बोर्ड लगा कर ओएलएक्स पर विज्ञापन देकर अपना जालसाजी का धंधा शुरू कर दिया।

इस बारे में पर्वतीय कॉलोनी निवासी मेधा को ओएलएक्स पर सर्च के दौरान जन कल्याण फाइनेंस कन्सलटेंस नाम की फर्म का पता चला। जिसके नम्बर पर संपर्क करके उसने अपने लिए जॉब के बारे में पता किया। उसे अपनी फर्म में वैकेंसी होने की बात कह कर फरीदाबाद के रामा पैलेस में बुलाया गया। आरोपियों ने मेघा को बताया की हमारी फर्म प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत लोन दिलाती है और बदले में लोन का 10 प्रतिशत लेती है और जो उनके पास ग्राहक लेकर आता है उसे 15 प्रतिशत कमीशन के तौर पर भी देती है।और फार्म भरवाने पर फाइल चार्ज के तौर पर 1150 रूपए लिए जाते हैं।

मेघा ने इस बारे में जब अपने पिता मनोज को बताया तो उन्होंने भी जन कल्याण फाइनेंस कन्सलटेंस में नौकरी शुरू कर दी। उन्हें बदले में दस हजार रूपये वेतन और जिन ग्राहकों को वो लेकर आएंगे उनपर उन्हें 15 प्रतिशत कमीशन भी दिया जाएगा। मनोज को ऑफर अच्छा लगा उन्होंने नौकरी शुरू कर दी और कुछ ही समय में अपनी जान पहचान के करीब 300 लोगों को यहाँ पर लोन के लिए आवेदन करवा दिया। लेकिन पिता पुत्री मनोज और मेघा के पैरों तले जमीन तब खिसक गई जब 27 सितम्बर 2019 को अजित और नितिन दोनों ही ऑफिस पर ताला लगा कर फरार हो गए और जितने भी फोन नम्बर आरोपियों ने उन्हें दिए थे सभी बंद हो गए। परेशान होकर मनोज ने इस की शिकायत सैक्टर 11 पुलिस चौकी में दी। वहां पर इस मामले में चौकी इंचार्ज विनोद गोदारा ने कार्रवाई कर के एएसआई अजय कुमार, एचसी सुमित, एचसी सुरेन्द्र के साथ मिल कर अथक मेहनत से दोनों आरोपियों को गुजरात के अहमदाबाद से गिरफ्तार कर बुधवार को फरीदाबाद की अदालत में पेश कर चार दिन की रिमांड पर ले लिया है।

चौकी इंचार्ज विनोद गोदारा ने बताया कि आरोपियों से इस बारे में पूछ-ताछ की जा रही है कि उन्होंने अब-तक किस-किस शहर में कितने लोगों से इस प्रकार की धोखा-धड़ी की है। साथ ही ये भी पता लगाय जा रहा है की इनके गिरहो में कितने लोग शामिल हैं और ये फेक आईडी किस तरह जुटाते थे और मोबाईल नम्बर कैसे हासिल करते थे।

Leave a Response