दिल्ली NCR समाचार

नोएडा के हुला ग्लोबल ने पीपीई गारमेंट्स और इक्विपमेंट की बिक्री

96views

नोएडा के हुला ग्लोबल ने पीपीई गारमेंट्स और इक्विपमेंट की बिक्री


बढ़ाने के लिए अपना चैनल डिस्ट्रिब्यूटर प्रोग्राम लॉन्च किया

 74 शहरों में डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क का लक्ष्य कोविड-19 के दौरान संघर्ष कर रहे छोटे और
मध्यम आकार के कारोबारियों को कमाई के अतिरिक्त स्रोत उपलब्ध कराना है

10 जुलाई, 2020: कोविड-19 महामारी और उसकी वजह से लगाए लॉकडाउन ने देश के लाखों असुरक्षित छोटे व्यवसायों को बड़ा झटका दिया है। इस नकारात्मकता को कम करने के लिए भारत के अग्रणी निर्माता और मेडिकल पीपीई गियर के डिस्ट्रिब्यूटर हुला ग्लोबल ने अपने चैनल डिस्ट्रिब्यूशन प्रोग्राम की शुरुआत की है। इस प्रोग्राम के एक हिस्से के तौर पर हुला ग्लोबल अपने पीपीई कपड़ों और उपकरणों की बिक्री को बढ़ाने के लिए भारत की 74 लोकेशन सिटी में अपने डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क का विस्तार कर रही है। इसका उद्देश्य कमाई का एक अतिरिक्त जरिया प्रदान कर टियर-1, टियर-2 और टियर-3 शहरों में छोटे और मध्यम आकार के कारोबारियों को सशक्त बनाना है।

कोविड-19 से बचाव में कारगर कवरऑल्स, सर्जिकल गाउन, एन95 मास्क जैसे ब्रांडेड प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट शुरू में चुनिंदा सरकारी उद्यमों के लिए ही उपलब्ध थे, लेकिन अब आम जनता के पास भी यह उपलब्ध हो सकेंगे। डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क के माध्यम से हुला ग्लोबल टियर-1 शहरों में 2 लाख से अधिक उपकरण, टियर-2 शहरों में एक लाख से अधिक, टियर-3 शहरों में लगभग 50,000 और टियर शहरों में 20,000 से अधिक किट बेचेगी। वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए, जब प्रोटेक्टिव गियर या मास्क का उपयोग सामान्य हो गया है, इस कदम से बड़ी संख्या में कॉर्पोरेट्स के साथ-साथ एमएसएमई को भी लाभ होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया अभियान और उसके बाद इसके नारे ‘वोकल फॉर लोकल’ के ही एक हिस्से के तौर पर हुला ग्लोबल पीपीई कपड़ों की एक विस्तृत रेजं के निर्माण पर ध्यान केंद्रित कर रहा है, जिसमें विभिन्न प्रकार के दस्ताने, मास्क आदि शामिल हैं, जो घरेलू बाजार की जरूरतों को पूरा करने के लिए 100% भारत में बने हैं। वर्तमान में, इसकी मासिक उत्पादन क्षमता एन95 मास्क के 50 लाख पीस, फेस शील्ड के 10 लाख पीस, सर्जिकल गाउन के 80 लाख पीस है।

नई व्यावसायिक पहल पर बोलते हुए हुला ग्लोबल के एमडी श्री करण बोस ने कहा, “देश भर में छोटे और मध्यम आकार के व्यवसाय अभूतपूर्व समय में लागत और राजस्व की हानि को लेकर संघर्ष कर रहे हैं। लॉकडाउन में हालिया ढील के साथ, पीपीई इक्विपमेंट और शील्ड की मांग बढ़ी है, न केवल फ्रंट-लाइन हेल्थकेयर कर्मचारियों की ओर से बल्कि अन्य सेवा क्षेत्रों से भी। हमारे डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क में एक्सक्लूसिव डिस्ट्रिब्यूटर, नॉन-इन्क्लूसिव डिस्ट्रिब्यूटर के साथ ही रीसेलर भी शामिल हैं जो उन्हें अतिरिक्त कमाई का जरिया प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं और उन्हें अपने बिजनेस को फिर से जीवित करने में मददगार साबित हो सकते हैं। इस बीच, इस डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क के जरिये हुला ग्लोबल बिक्री और प्रोडक्शन को और अधिक बढ़ाने में सक्षम होगा।”

भारतीय पीपीई उद्योग आज पिछले तीन महीनों में शून्य से 10,000 करोड़ रुपये के अनुमानित मूल्य पर पहुंच चुका है। कोविड-19 महामारी ने इस उद्योग को शुरुआती सुर्खियों में ला दिया है। केंद्र सरकार ने देश में पीपीई किट के कम से कम 110 घरेलू निर्माताओं की पहचान की थी, लेकिन उनमें से केवल 52 ही वर्तमान में यह किट तैयार कर रहे हैं। हालांकि, हुला ग्लोबल ने दिसंबर-2018 में अपनी स्थापना के बाद से मेडिकल-ग्रेड उत्पादों के निर्माण में गहन ज्ञान और विशेषज्ञता प्राप्त की है। यह ग्लोबल कोविड-19 संकट से निपटने के लिए पीपीई गियर बनाने पर आक्रामक रूप से जोर दे रही है। इसका ब्रांड, अल्ट्रा यूनिफॉर्म एकमात्र भारतीय पीपीई और कवरऑल ब्रांड है जिसे बहरीन सरकार ने मंजूरी दी है। सऊदी अरब और ईरान की सरकार के अनुमोदन के साथ फर्म ने पहले ही इन देशों में अल्ट्रा के डिस्ट्रिब्यूटर बना लिए हैं। अब निर्यात प्रतिबंध हटने का इंतजार है ताकि इन देशों को माल भेजने के लिे शिपिंग प्रक्रिया पूरी की जा सके।

 

हुला ग्लोबल के बारे में

हुला ग्लोबल एक इनोवेटिव अपैरल मैन्यूफेक्चरिंग फर्म है, जो कपड़ों के कम्पोनेंट्स के छोटे मॉड्यूल बनाने के लिए मॉड्यूलर मैन्यूफेक्चरिंग तकनीक का उपयोग करती है। यह मॉड्यूलर मैन्यूफेक्चरिंग प्रक्रिया उत्पादन को सुव्यवस्थित करती है और सप्लाई चेन में विभिन्न बिचौलियों को समाप्त करती है। इससे कंपनी कम से कम समय और लागत में कोई भी गारमेंट प्रोडक्ट उपलब्ध कराने में सक्षम बन जाता है। कंपनी की स्थापना दिसंबर 2018 में हुई थी और यह अपने स्टैंडअलोन ब्रांड अल्ट्रा के तहत भारत में मेडिकल और पीपीई गियर के अग्रणी निर्माताओं और वितरकों में से एक के रूप में उभरा है।

Leave a Response