फरीदाबादहेल्थ

कोरोना वायरस से बचाव व जागरूकता के संबंध में सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार में विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई, जिसमें फरीदाबाद के एसडीएम अमित गुलिया, नगराधीश बलीना व मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर कृष्ण कुमार मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

255views

कोरोना वायरस से बचाव व जागरूकता के संबंध में सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार में विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई, जिसमें फरीदाबाद के एसडीएम अमित गुलिया, नगराधीश बलीना व मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर कृष्ण कुमार मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

एसडीएम अमित गुलिया ने कहा कि जिला के सभी कार्यालयों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोरोना वायरस के बारे में जानकारी होनी चाहिए और वह इस जानकारी को अपने सभी मिलने जुलने वालों को जरूर बताएं। उन्होंने कहा कि हम सबको निरंतर सावधानी बरतनी चाहिए। इस वायरस से घबराने की कोई जरूरत नहीं है, बल्कि जागरूकता बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को इस बारे में पूर्ण जानकारी दें। साथ ही इस वायरस के बारे में अपने घर के सदस्यों व मिलने जुलने वाले लोगों को भी इसकी जानकारी दें। अमित गुलिया ने बताया कि सभी अधिकारी अपने कार्यालय के साफ-सफाई करने वाले कर्मचारियों को बादशाह खान अस्पताल में एक ट्रेनिंग जरूर दिलाएं, जिससे कि वह कार्यालय की साफ-सफाई सही ढंग से रख सकें। और इस रोग से बचाव किया जा सके।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर कृष्ण कुमार ने बताया कि यह वायरस हाथ मिलाने से, गले लगने से, कमरे में साथ रहने से ज्यादा फैलता है। अगर किसी को बुखार और खांसी हो तो वह यात्रा करने से भी बचें, नियमित रूप से साबुन और पानी से हाथ धोएं। खाँसते या छींकते समय मुंह को रुमाल या कोहनी से ढके और जिस व्यक्ति को खांसी जुखाम या बुखार के लक्षण हो तो उससे दूरी भी बनाए रखें। उन्होंने बताया कि यदि किसी को खांसी जुकाम या बुखार के लक्षण हो या सांस लेने में परेशानी हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे। किसी भी प्रकार की आधारहीन सूचनाओं पर विश्वास ना करें। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपने कार्यालयों में सैनेटाइजर अवश्य रखवा दें व सभी कर्मचारी लगभग हर 20 मिनट के बाद साबुन से अपने हाथ कम से कम 40 से 50 सेकंड के लिए अवश्य धोएं। उन्होंने यह भी बताया कि सभी कार्यालयों में लोगों का आना-जाना व फाइलों का आवागमन बहुत ज्यादा होता है, इसी को लेकर अपने हाथों को बार-बार धोने के साथ-साथ हाइपोक्लोराइड से कार्यालय की मेज, कुर्सी, कंप्यूटर व फर्श को साफ करवाएं। उन्होंने बताया कि हाइपोक्लोराइड बाजार में मिलता है। इसी तरह घर में अगर हाइपोक्लोराइड नहीं है तो एक गिलास विम बार सोलुशन लेकर उसमें 6 गिलास पानी और एक चम्मच ग्लिसरीन मिलाकर उससे घर की साफ सफाई की जा सकती है।

डिप्टी सीएमओ राम भगत ने बताया कि इस मुहिम में आंगनवाड़ी, आशा वर्कर, हेल्थ वर्कर जगह-जगह जाकर लोगों को जागरूक कर रही हैं और उन्हें निर्देश दिए गए हैं कि अगर कोई संदिग्ध केस मिलता है या इस रोग के लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे तुरंत अस्पताल में पहुंचा दें। इस वायरस के लक्षण मिलने पर रोगी को करीब 14 दिनों तक अस्पताल में निगरानी में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी आमजन में यह संदेश प्रचारित कर दें कि अगर किसी के आसपास इस वायरस के लक्षण से पीड़ित व्यक्ति दिखाई दे तो वह तुरंत फोन नंबर 0129-2415623 पर कॉल करके सूचना दे दें। उन्होंने कहा कि अगर कहीं पर भी इस रोग से पीड़ित रोगी की पहचान होने की स्थिति में उसके आसपास के दायरे को पूरी तरह सील कर दिया जाता है और उस क्षेत्र में सभी की चेकिंग की जाती है।

Leave a Response