फरीदाबाद

मानव रचना में अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण कॉन्फ्रेंस का आयोजन

183views
  • 31 जनवरी से 2 फरवरी तक आयोजित की जाएगी कॉन्फ्रेंस
  • दूसरे दिन (1 फरवरी) को सीएम मनोहर लाल करेंगे संबोधित

फरीदाबाद, 27 जनवरी: मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज, शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास और दक्षिणा फाउंडेशन की ओर से ‘पर्यावरण चुनैतियां और समाधान’ पर अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है। इस कॉन्फ्रेंस में 5000 से ज्यादा लोग हिस्सा लेंगे जिनमें वैज्ञानिक, पर्यावरणविद, छात्र, रिसचर्स, इकॉनॉमिस्ट्स समेत अन्य लोग शामिल होंगे। यह कॉन्फ्रेंस मानव रचना में 31 जनवरी 2020 से 2 फरवरी 2020 तक आयोजित की जाएगी। कार्यक्रम के दूसरे दिन ‘Environment Excellence Awards’ का आयोजन किया जाएगा जिसमें  हरियाणा के सीएम मनोहर लाल बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लेंगे। इस दौरान पर्यावरण के लिए कार्य करने पर्यावरणविदों को सम्मानित किया जाएगा। सरकार, प्रशासन, यूजीसी, एआईसीटीई, शैक्षणिक निकाय, गैर सरकारी संगठन, उद्योग, आरडब्ल्यूए, धार्मिक संगठन, शैक्षणिक संस्थान के प्रमुख पदाधिकारी इन तीन दिनों में वैश्विक पर्यावरण संबंधी चिंताओं पर विचार-विमर्श और चर्चा करेंगे।  सम्मेलन के मुख्य आकर्षण में से एक है ‘युवा जलसा’ जहां छात्रों को पर्यावरण की रक्षा के उद्देश्य पर केंद्रित अपने विचारों/परियोजनाओं को आगे ले जाने का अवसर मिलेगा। मानव रचना इनोवेशन और इनक्यूबेशन परियोजनाओं से अनुदान के लिए सर्वश्रेष्ठ परियोजनाओं को चुना जाएगा। सर्वश्रेष्ठ प्रोजेक्ट्स को 15 लाख रूपए दिए जाएंगे।  दिल्ली-एनसीआर के 50 से ज्यादा स्कूल कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेंगे। इस दौरान वह पर्यावरण पर पेंटिंग्स, पोस्टर और मॉडल्स शोकेस करेंगे। बेस्ट पोस्टर, पेंटिंग और मॉडल बनाने वाले छात्रों को सम्मानित किया जाएगा।

पर्यावरण पर अपनी तरह की पहली संसद के ग्रेड 6 से 9 तक के छात्रों को एक साथ लाना, सम्मेलन छात्रों को शिक्षाविदों, पर्यावरणविदों, नीति निर्माताओं, उद्योगपतियों, चीर बीनने वाले, सामाजिक कार्यकर्ताओं जैसे पर्यावरण के विभिन्न हितधारकों की भूमिकाओं का अनुकरण करेगा। सम्मेलन के लिए 7 प्रमुख पर्यावरण विषयों और 32 उप-विषयों के 100 से अधिक शोध पत्र प्राप्त हुए हैं। प्रख्यात पैनलिस्ट द्वारा तकनीकी सत्र तीन दिनों में आयोजित किए जाएंगे।

सम्मेलन का तीसरा दिन उन महिलाओं का है, जिन्होंने कई जिंदगियों को प्रभावित किया है और ‘पंचमहाभूत’ के विषय पर जमीनी स्तर पर काम कर रही हैं। तीन महिला उद्यमियों को पर्यावरण के लिए उनके अनुकरणीय योगदान के लिए सम्मानित किया जाएगा। सम्मेलन के अंतिम दिन महिलाओं के नेतृत्व वाली पैनल चर्चा और पर्यावरण प्रदर्शन प्रदर्शन पर होगा।

Leave a Response