फरीदाबाद

चार लाख से अधिक बच्चों को 19 को पिलाई जाएगी पोलियो दवा : उपायुक्त यशपाल

182views
उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग की जिला टास्क फोर्स कमेटी की बैठक में दिए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश।
फरीदाबाद,17 जनवरी।
उपायुक्त यशपाल ने कहा कि 19 जनवरी को पोलियो उन्मूलन अभियान के तहत जिला में 5 वर्ष तक की आयु के चार लाख, एक हज़ार 136 बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी।  सभी विभागों के अधिकारी इस अभियान की सफलता में अपनी जिम्मेदारियों का तत्परता व निष्ठा के साथ निर्वहन करें।
 उपायुक्त ने यह निर्देश शुक्रवार को लघु सचिवालय स्थित सभागार में जिला टास्क फोर्स की मीटिंग में सघन पोलियो उन्मूलन अभियान की तैयारियों की समीक्षा करते हुए दिए। उन्होंने इन अभियान की सफलता के संंबंध में सभी विभागों के अधिकारियों को उनकी जिम्मेदारियों के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दिए।
उपायुक्त ने कहा कि पिछले 108 माह में भारत में कोई भी पोलियो केस नहीं मिला है। परंतु भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान व अफगानिस्तान में वर्ष 2019 में क्रमश: 101 व 24 पोलियो केस सामने आए हैं। इससे भारत में पोलियो वायरस आने के खतरे से इनकार नहीं किया जा सकता है। इसी के चलते भारत में पोलियो उन्मूलन अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिला में सघन पोलियो उन्मूलन अभियान के तहत 19 जनवरी को जिला में विभिन्न स्थानों पर बनाए गए बूथों पर तथा 21 व 22 जनवरी को घर-घर जाकर  5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक दी जाएगी।
 उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सभी सरकारी, निजी व प्ले स्कूलों में पोलियो टीम की सुपरवाइजर के साथ सहयोग करते हुए बच्चों को पोलियो खुराक पिलवाएं।
  उन्होंने सभी अभिभावकों से भी अपील की है कि वे 5 वर्ष तक के बच्चों को नजदीकी बूथों पर ले जाकर पोलियो की खुराक अवश्य पिलवाएं।
 बैठक में डाक्टर परीक्षित ने विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए  बताया कि जिला में 5 वर्ष की आयु के चार लाख एक हजार 136 बच्चों और 6 लाख 34 हज़ार 976 घरों के लिए  ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में 1 हजार 535 बूथों  बनाए गए हैं। इन पर 5 हजार  390 कर्मचारी/ एनजीओ की टीमें लगाई जाएगी । इसी प्रकार 94 मोबाइल टीमें व 11 ट्रांजिट टीमें गठित की गई हैं। स्लम बस्तियों में 681, नोम्ड में  39 और ईट-भट्टों पर 146 तथा निर्माणाधीन बिल्डिंग पर 219 टीमों द्वारा पोलियो ड्राप पिलाई जाएगी ।
 उपायुक्त ने समीक्षा के दौरान कहा कि गांव स्तर पर नियुक्त आशा वर्कर्स व एएनएम के माध्यम से यह जागरूकता पैदा की जाए कि यदि कहीं किसी बीमार व्यक्ति के संबंध में सूचना मिलती है तो उसकी जानकारी आशा व एएनएम के माध्यम से उच्चाधिकारियों तक पहुंचाई जाए ताकि समय पर कार्रवाई की जा सके। उन्होंने बीमारियों से बचाव व साफ-सफाई  के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
 बैठक में एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, सीटीएम बैलीना, सिविल सर्जन डॉ सविता यादव, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी शशि अहलावत, श्रम विभाग के डा. हरेन्द्र मान, डा. रमेश, डाक्टर राजेश श्योकन्द, डाक्टर विजय, डाक्टर मान सिंह, डाक्टर पुनिया  सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।
उपायुक्त यशपाल बैठक को संबोधित करते हुए

Leave a Response