फरीदाबादहरियाणा

रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद सिटी व मी एंड माय ह्यूमन NGO द्वारा धुंध के समय जानवरों को दुर्घटना से बचाने के लिए जानवरों के गले में रिफ्लेक्टर लगाने के अभियान का शुभारम्भ किया।

146views

रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद सिटी व मी एंड माय ह्यूमन NGO द्वारा धुंध के समय जानवरों को दुर्घटना से बचाने के लिए जानवरों के गले में रिफ्लेक्टर लगाने के अभियान का शुभारम्भ किया।

सामाजिक संस्थाओं द्वारा किए गए मानवतावादी कार्य प्रशंसनीय है : डॉ अर्पित जैन, पुलिस उपायुक्त मुख्यालय

इस अभियान के तहत सड़क पर घूमने वाली गाय और कुत्तों के गले में रिफ्लेक्टर बांधे जाएंगे जो अँधेरे में भी चमकेंगे जिससे जानवरों के साथ-साथ वाहन चालक भी दुर्घटनाग्रस्त होने से बच सकेंगे|

फरीदाबाद: पुलिस उपायुक्त डॉ. अर्पित जैन ने अपने कार्यालय सेक्टर 21C में हुई एक बैठक में रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद सिटी व मी एंड माय ह्यूमन NGO के सदस्यों द्वारा सर्दियों के मौसम में धुंध के समय सड़कों पर जानवरों के साथ होने वाली दुर्घटनाओं से बचाने के लिए जानवरों के गले में रिफ्लेक्टर लगाकर चलाए गए अभियान का शुभारम्भ करते हुए सामजिक संस्थाओं द्वारा किए जा रहे इस प्रकार के मानवतापूर्ण कार्यों के लिए उनकी प्रशंसा की|

बैठक में रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद सिटी के प्रेसिडेंट डॉ. हेमंत अत्री, मी एंड माय ह्यूमन NGO की प्रेसिडेंट कुमारी वृंदा शर्मा, रोटरी चेरीटेबल ब्लड बैंक के एग्जीक्यूटिव वाईस प्रेसिडेंट श्री दीपक प्रसाद, श्रीमती संगीता नेगी, श्रीमती चांदनी आजाद अली, श्री सागर और श्री कृष्ण मौजूद रहे|

रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद सिटी के प्रेसिडेंट डॉ. हेमंत अत्री अत्री ने बताया कि धुंध के समय दृश्यता कम होने के कारण सड़क पर बहुत सारे जानवर दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं जिसमे उन्हें गंभीर चोटें आती है| कुछ दुर्घटनाएं तो इतनी बड़ी होती हैं जिसमे जानवरों की जान तक चली जाती है| इंसान तो फिर भी बोलकर अपनी पीड़ा किसी को बता सकते हैं परन्तु ये बेजुबान जानवर अपनी पीड़ा किसी के साथ साँझा नहीं कर सकते इसलिए इनपर ख़ास ध्यान देने की आवश्यकता है|

मी एंड माय ह्यूमन NGO की प्रेसिडेंट कुमारी वृंदा शर्मा ने कहा कि ज्यादातर सड़क दुर्घटनाओं में वाहन चालक दुर्घटना के पश्चात् जानवरों को उसी हालात में छोड़कर चले जाते हैं| जानवरों को दुर्घटना में आई चोट का जब उपचार नहीं हो पाता तो आगे चलकर यह चोट उनके लिए घातक साबित हो सकती है जिसमे उनमे अपंगता की स्थिति उत्पन्न हो जाती है और यहाँ तक की उन्हें अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ता है| इसलिए उनकी रक्षा के लिए उन्होंने जानवरों के गले में रिफ्लेक्टर बांधकर उन्हें बचाने के लिए यह अभियान चलाया है|

पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन ने बताया कि इन्सान अपने जीवन में इतना व्यस्त हो चूका है कि उन्हें प्रकृति द्वारा बनाए गए अन्य जीवों की जिन्दगी और उनके संरक्षण का कोई ख्याल ही नहीं है|
उन्होंने कहा कि रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद सिटी व मी एंड माय ह्यूमन NGO द्वारा किया जा रहा यह कार्य अति सराहनीय है|

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इससे जानवरों के साथ-साथ वाहन चालक भी जानवरों के गले में पहने हुए रिफ्लेक्टर की वजह से सावधानी बरतेंगे और सड़क पर होने वाले हादसों से बच पाएंगे जिससे जानवरों को भी नुकसान नहीं होगा और एक साथ कई जिंदगियां सुरक्षित अपने घर पहुँच पाएंगी|

पुलिस उपायुक्त ने संस्थाओं द्वारा किए जा रहे उनके कार्य में पुलिस प्रशासन की तरफ से भी पूरा सहयोग देने का भरोसा दिया और कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वह भविष्य में भी इस प्रकार के अनोखे मानवतापूर्ण कार्य करते रहेंगे|

Leave a Response